Saturday, April 20, 2019

अब उधार में ले सकते हैं रेलवे टिकट

 किसी किराने दुकान से राशन उधार लेना किसी के लिए नयी बात नहीं होगी। लेकिन रेलवे टिकट भी उधार में मिलने लगे तो क्या कहेंगे। जी हां, अब ऐसा ही होगा क्योंकि भारतीय रेल ने ‘इ-पे लेटर‘ यानी बाद में भुगतान की सेवा शुरू कर दी है। इस सेवा के तहत बिना भुगतान किए टिकट आरक्षित किया जा सकता है। अगर 14 दिन के अंदर भुगतान करते हैं तो ब्याज भी नहीं देना पड़ेगा। बताते हैं कि इस सर्विस के लिए आइआरसीटीसी ने अर्थशास्त्र फिनटेक प्राइवेट लिमिटेड के साथ एक करार किया है।


ऐसे करें आरक्षित 



सबसे पहले आप या तो अपने स्मार्टफोन या फिर डेस्कटाप के किसी ब्राउजर से आइआरसीटीसी की बेबसाइट पर जायें। पहले से आपका अकाउंट है तो लगइन करें या फिर साइन अप कर अपना अकाउंट बनायें। टिकट बूक कराने के लिए विस्तृत जानकारी भर दें। टिकट बुक करने के लिए यात्रा व यात्रियों से संबंधित मांगी गयी जानकारी भर दे। उसके बाद  नेक्स्ट बटन को क्लिक करते हुए नये पेज में आ जाय जहां पेमेंट की डिटेल पूछी जायेगी। इसी क्रम में क्रेडिट, डेबिट, नेट बैंकिंग के साथ साथ ‘ इ-पे लेटर‘ का भी विकल्प मिलेगा। पहली बार उधार ली गयी टिकट का भुगतान आपको हर हाल में 14 दिनों के अंदर कर देना होगा। अगर ऐसा नहीं किया तो आपका अकाउंट ब्लेक लिस्टेड हो सकता है।

प्ंजीयन आवश्यक


अगर आप पहली बार ‘इ-पे लेटर‘ का लाभ उठाने जा रहे हैं तो पंजीयन करना पड़ेगा। इसके लिए डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यूडाटईपेलेटरडाटइन पर लागइन करना होगा। रजीस्टर्ड हो जाने के बाद जब आप आइआरसीटीसी में यात्रा व यात्री से संबंधित मांगी गयी सूचना भरने के बाद पेमेंट पेज पर जायेंगे तो वहां आपको ई-पे लेटर के तहत किराया भुगतान का आप्शन आयेगा। इसे क्लिक करते ही आरक्षण टिकट बन जायेगा। इस सेवा के तहत ट्रेन खुलने से बारह घंटे तक भुगतान नहीं करने पर टिकट निरस्त हो जायेगा। यही नहीं ऐसे यात्रियों को भी काली सूची में डाल दिया जायेगा। अगर समय से भुगातन करते हैं तो कंपनी टिकट बुक कराने की लिमिट बढाते चली जायेगाी।

                                                                                                    - दीपक मिश्रा

No comments:

Post a Comment